अमेरिकी मैगजीन फॉर्च्यून ने इंटरनेट सर्च फर्म गूगल को लगातार पांचवें साल काम करने के लिए बेस्ट कंपनी का खिताब दिया है। फॉर्च्यून की ‘100 बेस्ट अमेरिकन कंपनीज टु वर्क फॉर’ की लेटेस्ट लिस्ट में गूगल पहले पायदान पर है। वहीं, सॉफ्टवेयर कंसल्टेंट एसएएस लिस्ट में दूसरे और स्ट्रैटेजी कंसल्टेंट्स बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप तीसरे नंबर पर हैं।

फॉर्च्यून ने कहा ,’गूगल एक बार फिर इस लिस्ट में सबसे ऊपर रही है। गूगल आठवीं बार लिस्ट में शामिल हुई है और पांचवीं बार इसने पहले पायदान पर कब्जा जमाया है।’ गूगल का स्टॉक 2013 में 1,000 डॉलर के लेवल को पार गया था। यह गूगल के एंप्लॉयीज के लिए वरदान की तरह है, जो इसके स्टेकहोल्डर्स हैं। मैगजीन ने कहा है कि टेक दिग्गज के एंप्लॉयीज बेनेफिट ने कंपनी को टॉप तक पहुंचाने में मदद की है। इस लिस्ट के टॉप टेन में फाइनेंशियल सर्विसेज फर्म एडवर्ड जोन्स (चौथी रैंक), मॉर्गेज लेंडर क्विकेन लोन्स, बायोटेक दिग्गज जेनेनटेक, क्लाउड कंप्यूटिंग की लीडर salesforce.com, सॉफ्टवेयर फर्म इनट्यूट, फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी रॉबर्ट डब्ल्यू बायर्ड एंड कंपनी और डीपीआर कंस्ट्रक्शन शामिल हैं।

अमेरिकी मैगजीन फॉर्च्यून की इस लिस्ट में क्वालकॉम 32वें नंबर पर है, जबकि गोल्डमैन सैक्स ग्रुप 45वे पर। लिस्ट में शामिल दूसरी प्रमुख कंपनियों में सिस्को (55वें नंबर), मैरियट इंटरनेशनल (57वीं रैंक), डेलॉयट (61वीं रैंक), प्राइसवाटरहाउसकूपर्स (65वां नंबर), अमेरिकन एक्सप्रेस (67वीं रैंक), नोवो नोर्डिस्क (72वीं रैंक), अर्न्स्ट एंड यंग (78वीं रैंक), डिस्कवरी कम्यूनिकेशंस (79वां नंबर), केपीएमजी (80वीं रैंक), इंटेल (84वीं रैंक), माइक्रोसॉफ्ट (86वीं रैंक), एक्सेंचर (90वीं रैंक), हयात होटल्स (95वीं रैंक) रहीं। काम करने के लिए 100 बेस्ट कंपनियों का चुनाव करने के लिए अमेरिकी मैगजीन ने ग्रेट प्लेस टु वर्क इंस्टिट्यूट के साथ गठजोड़ किया है। इस लिस्ट को तैयार करने से पहले इंस्टिट्यूट ने अलग-अलग कंपनियों के लिए काम करने वाले 252,000 एंप्लॉयीज से कई मानकों को लेकर सर्वे किया। हालांकि, सभी कंपनियों को इस लिस्ट में शामिल नहीं किया जा सकता है। लिस्ट में केवल वही कंपनियां शामिल हो सकती हैं, जो कम से कम पांच साल पुरानी हों और उनमें 1,000 से ज्यादा अमेरिकी एंप्लॉयीज काम कर रहे हों।